BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Bhagalpur (Bihar) Encounter Updates; Patna STF team shot dead Dinesh Muni Who Kills Khagaria SHO Ashish Kumar Singh | एसटीएफ ने मुठभेड़ में थानेदार के हत्यारे को मार गिराया; दो कार्बाइन, एक बंदूक और 14 गोलियां बरामद

  • भागलपुर जिले के बिहपुर थाना क्षेत्र के दूधैला दियारा में हुआ मुठभेड़
  • दिनेश पर पुलिस ने 50 हजार का इनाम घोषित कर रखा था

दैनिक भास्कर

Jun 04, 2020, 12:00 PM IST

भागलपुर. बुधवार को पटना एसटीएफ की टीम ने पसराहा (खगड़िया) के तत्कालीन थानेदार के हत्यारे दिनेश मुनि को मुठभेड़ में मार गिराया। दिनेश पर पुलिस ने 50 हजार का इनाम घोषित कर रखा था। 11 अक्टूबर 2018 को दिनेश को पकड़ने गए पसराहा के तत्कालीन थानेदार आशीष कुमार एनकाउंटर में शहीद हो गए थे। एक सिपाही को भी उस समय गोली लगी थी। देर रात यह मुठभेड़ भागलपुर जिले के बिहपुर थाना क्षेत्र के दूधैला दियारा में हुई।

मुठभेड़ में दिनेश को मारने के बाद मौके पर छानबीन करते पुलिस के जवान।

करीब डेढ़ साल से पुलिस दिनेश को खोज रही थी। लेकिन वह बार-बार बच जा रहा था। इसके बाद एसटीएफ ने जाल बिछाया और उसे एनकाउंटर में ढेर कर दिया। पुलिस ने घटनास्थल से दो कार्बाइन, एक बंदूक और 14 गोलियां बरामद की है। फरार हुए दिनेश के दोनों साथी की तलाश एसटीएफ और लोकल पुलिस कर रही है। 

मक्का के खेत से पुलिस ने कार्बाइन बरामद की गई।

2009 बैच के सब इंस्पेक्टर थे आशीष कुमार सिंह

आशीष कुमार सिंह 2009 बैच के दारोगा थे और पसराहा के थानेदार थे। 11 अक्टूबर 2018 की रात उन्हें सूचना मिली थी कि डकैत दिनेश मुनि नारायणपुर के दूधैला दियारा में साथियों के साथ छिपा है। थानेदार एक डकैत का पीछा करते हुए दूधैला दियारा में पहुंच गए थे। उनके साथ चार सिपाही भी थे। इसी दौरान दियारा में डकैतों ने पुलिस पर हमला बोल दिया था और ताबड़तोड़ गोलीबारी की थी। पुलिस ने भी डकैतों का जमकर मुकाबला किया था, लेकिन एक गोली थानेदार के पेट में लग गई थी। जख्मी हालत में भी थानेदार ने एक अपराधी को मार गिराया था। इसके बाद थानेदार शहीद हो गए थे। थानेदार के बचाव में फायरिंग करने वाले एक सिपाही को भी गोली लग थी। दोनों ओर से करीब 100 से अधिक राउंड गोली चली थी।

मक्का के खेत से पुलिस ने बंदूक बरामद की गई।

थानेदार गोपाल सिंह के बेटे थे आशीष
मूल रूप से सहरसा के रहने वाले शहीद सब इंस्पेक्टर आशीष कुमार सिंह 2009 बैच के सब इंस्पेक्टर थे। वह सहरसा जिले के सरोजा निवासी थानेदार गोपाल सिंह के बेटे थे। आशीष कुमार सिंह तीन भाइयों में सबसे छोटे थे। उनका ननिहाल खगड़िया जिले के चौथम थाना क्षेत्र के लालपुर में है। खगड़िया के पसराहा थानाध्यक्ष के रूप में आशीष कुमार सिंह ने चार सितंबर, 2017 को योगदान दिया था। तत्कालीन थानाध्यक्ष संजीव कुमार के तबादले के बाद उन्हें पसराहा थाने में पदस्थापित किया गया था।

कंटेंट: राकेश पुरोहितवार

Source link