BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Bhagalpur News In Hindi : Three employees of Sanhaila block were also infected, including the official of the Sadar Hospital, Kareena, office closed | सदर अस्पताल के अधिकारी समेत दाे संक्रमित, सन्हाैला प्रखंड के भी तीन कर्मचारियाें काे काेराेना, कार्यालय बंद

दैनिक भास्कर

Jun 27, 2020, 05:17 AM IST

भागलपुर. सिविल सर्जन आवास के रसाेईया से शुरू हुआ काेराेना की चेन अब सदर अस्पताल के अन्य कर्मचारियाें में फैल रही है। अस्पताल के एक अधिकारी और अस्पताल परिसर स्थित नशामुक्ति केंद्र के एक कर्मचारी की रिपाेर्ट शुक्रवार काे पाॅजिटिव आई है। शहरी इलाकाें में भी काेराेना फैल रहा है। बरहपुरा के 55 वर्षीय वकील और उनकी 41 वर्षीय पत्नी, मुंदीचक के 72 वर्षीय वृद्ध व शिवपुरी काॅलाेनी के एक व्यक्ति भी संक्रमित हुए हैं। बरहपुरा हाॅटस्पाॅट बनता जा रहा है। क्याेंकि वहां बेगूसराय में पदस्थापित एएसआई व उनकी बेटी संक्रमित हाे चुकी है। सदर अस्पताल के पाॅजिटिव आए अधिकारी भी बरहपुरा में ही रहते हैं। इस तरह वहां के पांच एक्टिव मरीज हाे गए हैं। सुल्तानगंज में चार और संक्रमित मिले हैं।

इनमें प्रखंड कार्यालय के दाे कर्मचारी, निर्वाचन कार्यालय में प्रतिनियुक्त भागलपुर के सिकंदरपुर पानी टंकी के पास रहने वाले एक शिक्षक अाैर एक युवा नेता शामिल हैं। सन्हाैला प्रखंड कार्यालय के भी तीन कर्मचारी संक्रमित हुए हैं। इसके बार प्रखंड कार्यालय काे बंद कर दिया गया है।  शुक्रवार काे जिले में कुल 23 नए मरीज मिले हैं। इनमें जगदीशपुर प्रखंड के 20, 15, 26 और 39 और पीरपैंती के 30, 32, 48 और 25 वर्षीय युवक भी संक्रमित हाे गए हैं। सन्हाैला के चार लाेग व गाेपालपुर की 44 वर्षीय महिला की रिपाेर्ट पाॅजिटिव आयी है। जिला में काेराेना के मरीजाें का आंकड़ा 436 पर पहुंच गया है। सिविल सर्जन डाॅ. विजय कुमार सिंह ने बताया कि सदर अस्पताल के सभी कर्मचारियाें की काेराेना जांच शुरू हाे गयी है।  

मायागंज का अाेपीडी पहले से बंद इसलिए मरीजाें की बढ़ेगी दिक्कत
सदर अस्पताल के अधिकारी के पाॅजिटिव हाेने के बाद एहतियातन सिविल सर्जन, उनकी पत्नी, 39 कर्मचारियाें व उनके परिवार के 17 लाेगाें के सैंपल जांच के लिए गए हैं। अब इनकी रिपाेर्ट पर ही तय हाेगा कि शनिवार से सदर अस्पताल में मरीजाें का इलाज पहले की तरह ही सामान्य रहेगा या कुछ दिनाें के लिए अस्पताल का ओपीडी प्रभावित हाेगा। अगर सदर का ओपीडी का काम प्रभावित हुआ ताे मरीजाें की परेशानी बढ़ जाएगी क्याेंकि मेडिकल काॅलेज अस्पताल का ओपीडी अप्रैल से ही बंद हैं। 

सीएस के रसाेईया से संक्रमित हुए सदर के अधिकारी व कर्मचारी 
सदर अस्पताल के जिस अधिकारी काे काेराेना हुआ है वह मरीजाें के इलाज, काेराेना की सैंपलिंग की व्यवस्था के काम से जुड़े हैं। जाहिर है कि वे इस बीच कई लाेगाें के संपर्क में अाए हाेंगे। शुक्रवार काे अस्पताल परिसर में शुरू हुए परिजन शेड काे फूलाें से सजाने के कार्य भी उन्हाेंने खुद किया था। इसके बाद दफ्तर में बैठकर काम भी किया। लेकिन रिपाेर्ट पाॅजिटव हाेने की सूचना मिली ताे सीएस काे जानकारी देने के बाद अपने घर में अाइसाेलेट हाे गए। बताया जा रहा है कि तीन दिन पहले नशामुक्ति केंद्र पहुंचे ताे रसाेईया से अधिकारी व कर्मचारी संक्रमित हुए हैं।

सदर में मरीजाें की संख्या हुई कम 
सदर अस्पताल में काेराेना के डर से शुक्रवार काे मरीज भी कम आए। गुरुवार काे 350 मरीजाें का रजिस्ट्रेशन हुअा था जबकि शुक्रवार काे ढाई साै मरीज ही इलाज के लिए आए। इमरजेंसी में गुरुवार काे 27 मरीजाें का इलाज हुआ था जबकि शुक्रवार काे मात्र पांच मरीज ही आए। 

सुल्तानगंज में पदस्थापित सिकंदरपुर पानी टंकी के पास शिक्षक संक्रमित 
सुल्तानगंज में शुक्रवार काे और चार काेराेना संक्रमित मिले हैं। इनमें बीडीओ दफ्तर के दो कर्मचारी, निर्वाचन कार्यालय में बीएलओर के रूप प्रतिनियुक्त एक 40 वर्षीय शिक्षक व एक राजनीतिक दल के नेता है। ये युवा नेता पंचायत के वार्ड सदस्य और एक जनप्रतिनिधि के प्रतिनिधि भी हैं। रेफरल अस्पताल प्रबंधक चंदन कुमार ने बताया युवा नेता व दाेनाें कर्मचारियाें का सैंपल 25 जून काे लिया गया था। वहीं संक्रमित शिक्षक प्राथमिक विद्यालय हरिवंशपुर बाथ में कार्यरत हैं, लेकिन अभी निर्वाचन कार्यालय में प्रतिनियोजन पर हैं। वह भागलपुर में सिंकदरपुर पानी टंकी के पास रहते हैं। 

Source link