BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Coronavirus Testing In Bihar Updates; Nitish Kumar 10000 Targets Not Followed By Health Department | 10 हजार कोरोना सैंपल की जांच के लक्ष्य तक नहीं पहुंच रहा स्वास्थ्य विभाग

  • राज्य के हर जिले में शुरू हो चुकी है जांच, लेकिन प्रतिदिन औसतन जांच 8 हजार के करीब
  • जांच बढ़ाने के लिए 20 और नई ट्रूनेट व आरएनए एक्सट्रेक्टरए आरटीपीआर मशीन लगाए जाएंगे

दैनिक भास्कर

Jul 06, 2020, 06:37 PM IST

पटना. राज्य में प्रतिदिन होने वाली कोरोना जांच की संख्या तेजी से नहीं बढ़ रही है। सरकार द्वारा प्रतिदिन 10 हजार से अधिक कोरोना सैंपल जांच के निर्धारित लक्ष्य भी पूरा नहीं हो पा रहा है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार जांच की संख्या बढ़ाने का लगातार आदेश देते रहे हैं। 

स्वास्थ्य विभाग ने राज्य के सभी जिलों में कोरोना जांच की शुरुआत करवाया है। अभी राज्य में औसतन 7 से 8 हजार के बीच जांच हो रही है। हालांकि पिछले तीन दिनों से राज्य के नोडल जांच एजेंसी के रूप में काम कर रही राजेंद्र मेमोरियल रिचर्स इंस्टीट्यूट और पटना मेडिकल कॉलेज हॉस्पिटल की लैब संक्रमण मुक्त करने के लिए अस्थाई रूप से बंद है।

तिथि सैंपल की जांच
1 जुलाई 7799
2 जुलाई 7291
3 जुलाई 7187
4 जुलाई 7930
5 जुलाई 6799
6 जुलाई 6213

जांच बढ़ाने के लिए 20 और नई ट्रूनेट व आरएनए एक्सट्रेक्टरए आरटीपीआर मशीन लगाए जाएंगे
स्वास्थ्य विभाग प्रतिदिन होने वाली कोरोना जांच की संख्या 10 हजार से अधिक करने के लिए 20 और नई ट्रू नेट मशीन, आरएनए एक्सट्रेक्टर व आरटीपीआर मशीन लगाने का निर्णय। विभाग नई जांच मशीन की बढ़ती संख्या को देखते हुए मशीन के संचालन के लिए स्वास्थ्य कर्मियों को तकनीकी प्रशिक्षण देना भी शुरू करवा दिया है। अभी सभी राज्य के 38 जिलों के 48 जांच केंद्र काम कर रहा है।

अनुमंडल स्तर में भी जांच केंद्र चालू करने की तैयारी
अभी राज्य में कोरोना जांच की सुविधा जिला स्तर पर ही उपलब्ध है। निकट भविष्य में इससे अनुमंडल स्तर तक ले जाने की तैयारी है। इसके लिए अनुमंडल स्तर पर जांच को लेकर आधारभूत संरचना का निर्माण करने की योजना है। अभी राज्य में प्रतिदिन करीब 7 हजार सैंपल्स की जांच की जा रही है। इसे बढ़ाकर 20 हजार सैंपल प्रतिदिन करने की दिशा में काम किया जा रहा है।

Source link