BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Effective initiative resulted in fewer deaths from corona in Bihar than Maharashtra, Gujarat: Sushil Modi | प्रभावी पहल से महाराष्ट्र, गुजरात की तुलना में बिहार में कोरोना से कम हुई मौतें: सुशील मोदी

  • मोदी ने कहा-समय से लॉकडाउन लागू कर बचाई गई लाखों लोगों की जिंदगी
  • बिहार में कोरोना से 25 मरीजों ने दम तोड़ा, ज्यादातर किसी गंभीर बीमारी से पीड़ित थे

दैनिक भास्कर

Jun 03, 2020, 06:43 PM IST

पटना. उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि प्रभावी पहल के कारण ही बिहार में कोरोना से अपेक्षाकृत कम मौत हुई है। विकसित राज्यों में शुमार महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण से 2465 और गुजरात में जहां 1092 मौतें हुई हैं वहीं बिहार में प्रभावी पहल के कारण मौतों की संख्या 25 तक सीमित है। बिहार में रिकवरी रेट करीब 48 फीसदी है। मगर जितनी बड़ी संख्या में प्रवासी श्रमिक लौट रहे हैं, क्वरैंटाइन अवधि पूरा कर लोग अपने घरों में जा रहे है, बाजार खुल गए हैं, बसें चलना प्रारंभ हो गई हैं, ऐसे में आने वाले दिनों में संक्रमण को रोकना बड़ी चुनौती होगी।

मोदी बुधवार को मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में आयोजित कोरोना उन्मूलन जागरुकता कार्यक्रम के दौरान त्रि-स्तरीय पंचायती राज एवं नगर निकायों के जन प्रतिनिधियों को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को धन्यवाद दिया कि समय से लागू लॉकडाउन के कारण लाखों लोगों की जिन्दगी बचायी जा सकी हैं। दुखद है कि अमेरिका जैसे विकसित देश में जहां 1.07 लाख से ज्यादा मौतें हो चुकी हैं वहीं भारत में भी अब तक 5829 मौतें हुई हैं।

उपमुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना से डरना नहीं, लड़ना है। एचआईवी एड्स, टीवी, स्मॉल पॉक्स की तरह कोरोना के साथ भी जीना सीखना होगा। कोरोना की अभी कोई दवा या टीका नहीं है, ऐसे में सावधानी बरत कर ही संक्रमण को रोकना होगा। पंचायतों की दी गई 160 करोड़ की राशि का उपयोग कर सभी को मास्क और साबुन वितरित करें। शहरों में भी मुफ्त में मास्क वितरित किए जा रहे हैं।  

मोदी ने कहा कि लॉकडाउन लागू कर जहां कोरोना जैसी महामारी के संक्रमण को प्रभावी ढंग से रोका गया वहीं अब मास्क पहन कर दोहरी सुरक्षा को अपनाने की जरूरत है। मास्क पहनने वाला जहां दूसरों को संक्रमित होने से बचाएगा वहीं खुद को भी सुरक्षित रखेगा। गमछी, रूमाल व तौलिया का भी इस्तेमाल करें। इसके अलावा डब्ल्यूएचओ के मानकों शारीरिक दूरी, दो गज की सामाजिक दूरी, साबुन से बार-बार हाथ धोकर व सफाई आदि को अपना कर कोरोना के संक्रमण का मुकाबला किया जा सकता है।

Source link

Categories