BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Indian Badminton Star HS Prannoy and P Kashyap on Badminton Association BAI for Arjuna Award Selection News Updates | प्रणॉय ने अर्जुन अवॉर्ड के लिए नाम नहीं भेजने पर नाराजगी जताई, कहा- यह देश का मजाक है; कश्यप ने भी समर्थन किया

  • बैडमिंटन एसोसिएशन ने अर्जुन अवॉर्ड के लिए सात्विक साईराज-चिराग शेट्टी की जोड़ी और पुरुष एकल में समीर वर्मा का नाम भेजा
  • कॉमनवेल्थ चैम्पियन पी कश्यप ने कहा- पुरस्कार के लिए आवेदन करने के सिस्टम समझ नहीं आता है, उम्मीद इसमें बदलाव होगा

दैनिक भास्कर

Jun 03, 2020, 03:13 PM IST

बैडमिंटन स्टार एचएस प्रणॉय ने इस बार भी अर्जुन अवॉर्ड के लिए अपने नाम की सिफारिश नहीं किए जाने पर नाराजगी जाहिर की है। इस बार बैडमिंटन एसोसिएशन ऑफ इंडिया (बीएआई) ने अर्जुन अवॉर्ड के लिए मंगलवार को सात्विक साईराज रैंकीरेड्डी-चिराग शेट्टी की जोड़ी और पुरुष एकल में समीर वर्मा का नाम खेल मंत्रालय को भेजा है।

प्रणॉय ने ट्वीट किया, ‘‘अर्जुन अवॉर्ड, वही पुरानी कहानी है। कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियाई चैम्पियनशिप में पदक पाने वाले लड़के को एसोसिएशन इस बार भी नजरअंदाज कर देता है। वहीं, जो लड़का इन गेम्स में से कहीं से कहीं तक नहीं था, उसके नाम की सिफारिश की। वाह, यह देश का मजाक है।’’

4 साल के आधार पर नाम की सिफारिश की
सात्विक-चिराग की जोड़ी ने 2018 कॉमनवेल्थ गेम्स में रजत जीता था, लेकिन समीर कॉमनवेल्थ गेम्स और एशियन गेम्स में कभी नहीं खेले। बीएआई के मुताबिक, उसने सिफारिश के लिए खेल मंत्रालय को नाम भेजने से पहले 4 साल के एथलीटों और कोचों के प्रदर्शन का बारीकी से आकलन किया है।

समीर का पिछले साल अच्छा प्रदर्शन नहीं रहा
धार के 25 वर्षीय खिलाड़ी समीर ने पिछले साल अच्छा प्रदर्शन नहीं किया था। हालांकि, वे 2016 हॉन्ग कॉन्ग ओपन के फाइनलिस्ट थे। वे अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ रैकिंग 11वें नंबर तक पहुंचे थे। 2018 में उन्होंने 3 खिताब जीते थे। वर्ल्ड टूर फाइनल्स में भी जगह बनाई थी। भारतीय टीम ने सेमीफाइनल तक का सफर तय किया था।

पिछले साल भी प्रणॉय ने सवाल उठाए थे
प्रणॉय का समर्थन करते हुए पी कश्यप लिखा, ‘‘सच कहूं तो मुझे पुरस्कार के लिए आवेदन करने का सिस्टम समझ नहीं आता है। मुझे उम्मीद है कि इसमें बदलाव होगा।’’ पिछले साल भी अर्जुन अवॉर्ड के लिए नजरअंदाज किए जाने के बाद प्रणॉय ने चयन मानदंड पर सवाल उठाए थे।

2018 में प्रणॉय का शानदार प्रदर्शन रहा
प्रणॉय ने 2018 में अच्छा प्रदर्शन किया था। कॉमनवेल्थ गेम्स में भारतीय मिश्रित टीम ने गोल्ड जीता था, प्रणॉय इसका हिस्सा थे। वहीं, उन्होंने वुहान एशियाई चैम्पियनशिप में कांस्य जीता और मई 2018 में वर्ल्ड रैंकिंग के 8वें नंबर तक पहुंचे थे, जो उनके करियर की सर्वश्रेष्ठ रैंकिंग थी।

प्रणॉय ने पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 ली चोंग को हराया
2017 में प्रणॉय ने मलेशिया के पूर्व वर्ल्ड नंबर-1 ली चोंग वेई को हराया था। इंडोनेशियाई ओपन में लगातार ओलिंपिक चैम्पियन चीन के चेन लोंग को लगातार मैच में हराया था। इसी साल यूएस ओपन के फाइनल में भी पहुंचे। वहीं, नेशनल चैम्पियनशिप में उन्होंने वर्ल्ड नंबर-2 किदांबी श्रीकांत को हराकर अपना पहला सीनियर राष्ट्रीय चैम्पियनशिप खिताब जीता था।



Source link