BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Mallya can be brought to Mumbai from the plane at any time, completing all the formalities of his extradition to Britain | माल्या को किसी भी वक्त प्लेन से मुंबई लाया जा सकता है, ब्रिटेन में उसके प्रत्यर्पण की सारी औपचारिकताएं पूरी

  • माल्या भारत प्रत्यर्पण के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करना चाहता था, पर ब्रिटिश हाईकोर्ट ने 14 मई को यह मांग खारिज की
  • 14 मई के फैसले के बाद माल्या के पास कोई कानूनी विकल्प नहीं बचा, इसके बाद उसे 28 दिन के भीतर भारत भेजा जाना है

दैनिक भास्कर

Jun 03, 2020, 09:32 PM IST

नई दिल्ली/लंदन. भगोड़े शराब कारोबारी विजय माल्या को किसी भी वक्त भारत लाया जा सकता है। ब्रिटेन में उसके प्रत्यर्पण की सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। न्यूज एजेंसी आईएएनएस को बुधवार को सूत्र ने बताया कि मुंबई में माल्या के खिलाफ केस दर्ज है और ऐसे में उसे मुंबई लाया जाएगा।
9 हजार करोड़ रुपए के लोन डिफॉल्ट मामले में विजय माल्या भारत में वांटेड है। 2 मार्च 2016 को विजय माल्या भारत छोड़कर लंदन पहुंचा था।

गुरुवार को कोर्ट में पेश किया जा सकता है माल्या
सूत्र के मुताबिक, माल्या के साथ सीबीआई और ईडी के अधिकारी भी रहेंगे। मुंबई एयरपोर्ट पर मेडिकल टीम उसकी जांच करेगी। अगर उसे बुधवार रात लाया जाता है, तो उसे सीबीआई दफ्तर में रात गुजारनी होगी। अगले दिन उसे कोर्ट में पेश किया जाएगा। यहां सीबीआई और ईडी उसकी कस्टडी की मांग कर सकती हैं।

लंदन हाईकोर्ट खारिज कर चुका है माल्या की अपील
14 मई को लंदन हाईकोर्ट ने विजय माल्या की भारत प्रत्यर्पण के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अपील करने की इजाजत देने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी थी। इस अपील के खारिज होने के बाद अब उसको 28 दिनों में भारत लाया जाना है। 20 दिन बीत चुके हैं और उसके प्रत्यर्पण की तैयारियां भी पूरी हो चुकी हैं। माल्या के पास अब कोई कानूनी विकल्प नहीं बचा है।

ब्रिटिश कोर्ट को ऑर्थर रोड जेल की डिटेल दे चुकी हैं एजेंसियां
अगस्त 2018 में ब्रिटेन की कोर्ट ने माल्या के मामले की सुनवाई के दौरान जांच एजेंसियों को उस जेल की जानकारी पेश करने को कहा था, जहां भारत में माल्या को रखा जाना था। तब जांच एजेंसियों ने मुंबई की ऑर्थर रोड जेल का वीडियो भी लंदन की कोर्ट में दिखाया था। जांच एजेंसियों ने कहा था कि दो मंजिला इस जेल में माल्या को हाई सिक्युरिटी बैरक में रखा जाएगा। 

Source link