BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Muzaffarpur News In Hindi : 7-year wait for construction of Hajipur bypass is over, work will be done to erase 17 km distance from today | हाजीपुर बायपास निर्माण का 7 साल से चल रहा इंतजार खत्म, आज से 17 किमी फासले को मिटाने का होगा काम

  • एनएचएआई पहले चरण में मधाैल से पताही तक कराएगा निर्माण, इसके बाद पताही से सदातपुर तक पूरा होगा काम
  • उम्मीद कीजिए एक साल बाद इस मार्ग पर भर सकेंगे फर्राटा

दैनिक भास्कर

Jun 27, 2020, 05:20 AM IST

मुजफ्फरपुर. सात साल से ठप 17 किमी हाजीपुर-मुजफ्फरपुर बायपास का निर्माण शनिवार से शुरू हाे जाएगा। निर्माण के लिए उत्तराखंड की एक निर्माण एजेंसी शुक्रवार काे शहर पहुंच गई। शनिवार काे मधाैल गांव से बायपास का विधिवत निर्माण शुरू हाेगा। इस मौके पर एनएचएआई के अधिकारियाें के साथ ही डीएम डाॅ. चंद्रशेखर सिंह, एसएसपी जयंत कांत सहित अन्य अधिकारी के उपस्थित रहने की संभावना है। पहले चरण में मधाैल से पताहीं तक बायपास का निर्माण पूरा किया जाएगा। उसके बाद पताहीं से सदातपुर तक बायपास निर्माण हाेगा।

एक वर्ष के अंदर काम पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है। वर्ष 2013 तक गैमन एजेंसी 17 किमी बायपास में से करीब 6 किमी की दूरी में सड़क निर्माण पूरा कर चुकी थी। अधिग्रहित जमीन पर मिट्टी भराई का भी काम लगभग पूरा हाे चुका है। इस बीच मुआवजा दर काे लेकर किसानाें की आपत्ति के बाद बायपास निर्माण ठप हाे गया। 2013 के अंत में एजेंसी ने काम छाेड़ दिया। इसके बाद तमाम प्रयासाें के बीच मामला उलझता गया। अंतत: इस साल के शुरुआत में एनएचएआई ने इस पूरे प्राेजेक्ट काे बंद करने के लिए डी-स्काेप श्रेणी में डाल दिया। पथ निर्माण विभाग की पहल पर नए सिरे से काम शुरू कराने पर सहमति बनी है।

150 कराेड़ के फाइनल एस्टीमेट को एनएचएआई से मिली है स्वीकृति

22 मई काे सभी पक्षाें के साथ डीएम की अध्यक्षता में हुई बैठक में एनएचएआई ने नए सिरे फाइनल एस्टीमेट काे स्वीकृति देने पर सहमति जताने के साथ  करीब 150 कराेड़ रुपए का फाइनल एस्टीमेट काे स्वीकृति दे दी। जिसमें सभी 36 गांव के भू धारियाें काे बकाया मुआवजा पर 30 जून तक 12 फीसदी ब्याज देने की बात कही गई है। जिसके बाद कैंप लगाकर मुआवजा भुगतान की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है। अबतक मधाैल के 98 तथा दरियापुर कफेन के 9 भू धारियाें ने कागजात जमा कर मुआवजा लेने काे सहमति पत्र दे दी है। मधाैल के 98 में से 56 भू धारियाें के बैंक खाते में राशि उपलब्ध करा दी गई है। हालांकि, कुछ भू धारी मुआवजा काे लेकर अब भी आपत्ति जता रहे हैं।

Source link