BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Muzaffarpur News In Hindi : Embankment broken in Shivhar, 4 feet water on Sitamarhi-Sursand NH, shed in a flood | शिवहर में तटबंध टूटा, सीतामढ़ी-सुरसंड एनएच पर 4 फीट पानी, एक बाढ़ में बहा

  • भिट्‌ठामोड़ के एसएसबी चेकपोस्ट व ओपी में भी घुसा पानी
  • दरभंगा के 6 प्रखंड प्रभावित, कई गांवों का प्रखंड मुख्यालय से संपर्क टूटा

दैनिक भास्कर

Jul 13, 2020, 06:13 AM IST

मुजफ्फरपुर. नेपाल के जल अधिग्रहण क्षेत्र में हो रही बारिश के कारण उत्तर बिहार की नदियों में उफान जारी है। सीतामढ़ी में बागमती, मनुष्यमारा, रातो, मरहा, झीम, लखनदेई के अलावा अधवारा समूह की नदियां खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। शिवहर के पिपराही-ढाका स्टेट हाईवे संख्या 54 पर बेलवा में डैम निर्माण कार्य को लेकर बनाया गया सुरक्षात्मक तटबंध पानी के तेज बहाव के चलते रविवार शाम ध्वस्त हो गया। साेनबरसा में झीम नदी की तेज धारा में लोहखर निवासी 20 वर्षीय एकलव्य बह गया।

सुतिहारा के निकट सुरसंड-सीतामढ़ी एनएच का संपर्क भंग हो गया है। सड़क पर 4 फीट पानी है। रातो नदी में उफान से नेपाल सीमा पर भिट्‌ठामोड़ के एसएसबी चेकपोस्ट व भिट्‌ठा ओपी कार्यालय में पानी प्रवेश कर गया है। परिहार प्रखंड व अंचल कार्यालय से बाढ़ का पानी नहीं निकला है। मोतिहारी-शिवहर, मोतिहारी-बेलवा में सड़क संपर्क तीसरे दिन भी भंग रहा। बथनाहा की दिग्घी पंचायत की दो हजार आबादी का सड़क संपर्क भंग हो गया है। वहीं मदनपट्‌टी में घर गिरने से महिला घायल हो गई।

काेसी में कटाव तेज, 24 घर नदी में समाए

कोसी नदी के जलस्तर में उतार-चढ़ाव से सुपौल जिले में सुरक्षा तटबंध, स्पराें व तटबंध के भीतर बसे गावाें में कटाव तेज हाे गया है। अबतक 2 दर्जन से अधिक घर बाढ़ में बह गए हंै। बसंतपुर, निर्मली, सरायगढ़-भपटियाही, किशनपुर, मराैना और सदर प्रखंड के तटबंध के भीतर 100 से अधिक गांवाें के 10 हजार घराें में बाढ़ का पानी घुस चुका है। चापाकल व शौचालय भी डूब गए हैं। कोसी बराज से शुक्रवार को किए गए 2 लाख 74 हजार क्यूसेक डिस्चार्ज के बाद कोसी में आए उफान से सहरसा के नवहट्‌टा, महिषी, सिमरी बख्तियारपुर और सलखुआ के तटबंध के अंदर बसे 60 से अधिक गांवों में बाढ़ का पानी फैल गया है।

गंडक ने बेतिया के नौतन प्रखंड में मचाई तबाही
गंडक में उफान से बेतिया के नौतन की भगवानपुर पंचायत समेत अन्य गांवों के सैकड़ों घरों में बाढ़ का पानी घुस गया है। लोग पलायन कर रहे हैं। बाढ़ पीड़ित मंगलपुर से गोपालगंज जाने वाली सड़क पर तंबू तान कर गुजर बसर कर रहे हैं।

Source link