BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Muzaffarpur News In Hindi : Freight vehicles increase 20% freight; Passenger vehicles are set to increase | मालवाहक वाहनों ने 20%भाड़ा बढ़ाया पैसेंजर वाहनों का बढ़ाने की है तैयारी

दैनिक भास्कर

Jun 24, 2020, 05:53 AM IST

मुजफ्फरपुर. पेट्राेल-डीजल की कीमताें में लगातार वृद्धि हाे रही है। पिछले 16 दिनाें में बिहार में पेट्रोल के दाम साढ़े 5 रुपए और डीजल के दाम साढ़े 7 रुपए तक बढ़ गए हैं। इसका सीधा असर अब बाजार पर दिखने लगा है। इसके कारण महामारी से जूझ रहे लाेगाें काे अब महंगाई की भी चिंता सताने लगी है। मालवाहक वाहनाें ने ताे 15 से 20 प्रतिशत तक किराया बढ़ा दिया है। पैसेंजर वाहनाें में भी 25 प्रतिशत तक वृद्धि की तैयारी है। काेराेना महामारी के कारण अभी बहुत वाहन ऑन राेड नहीं हैं। पैसेंजर की संख्या भी कम है।

इसलिए ट्रांसपाेर्ट फेडरेशन किराए में वृद्धि काे लेकर असमंजस में है। हालांकि, फेडरेशन जल्द ही इसको लेकर निर्णय लेगा। मालवाहक वाहनाें का किराया बढ़ने का असर अब कई सामग्री की कीमताें पर भी दिखने लगा है। नाॅर्थ बिहार चैंबर ऑफ काॅमर्स के अनुसार, इसका सीधा असर लंबी दूरी के परिवहन पर पड़ने लगा है। अभी ही प्रति मीटर कपड़े पर 50 पैसे की वृद्धि हाे गई है। बालू, गिट्टी के दाम में भी भारी इजाफा हुआ है। निर्माण सामग्री विक्रेता अजय कुमार के अनुसार, बालू 7 से 8 हजार रुपए ट्रक और गिट्टी साढ़े 7 से 9 हजार रुपए ट्रक हाे गया है।

सीमेंट के दाम भी 350 से 380 रुपए बैग हाे गए हैं। बढ़ी कीमत में थाेड़ी कमी आई है। दरअसल, अनलाॅक में बाजार खुले। लेकिन, उत्पादन क्षमता के अनुसार नहीं है। इस कारण भी उत्पाद लागत बढ़ गई है। बिहार ट्रक माेटर एसाेसिएशन के कार्यकारी अध्यक्ष देवीलाल ने कहा कि वृद्धि करने पर महंगाई बढ़ने से मार्केट डाउन हाेगा। इसलिए संघ के स्तर पर किराए में वृद्धि नहीं हुई है। लेकिन, ट्रांसपाेर्टर काे इसका घाटा उठाना पड़ रहा है।

माेटर ट्रांसपाेर्ट फेडरेशन ने कहा , घाटा हो रहा, पैसेंजर वाहनों का किराया भी बढ़ाना पड़ेगा

  • पैसेंजर के किराए में वृद्धि पर निर्णय को शीघ्र होगी बैठक

पैसेंजर वाहनाें के किराए में वृद्धि काे लेकर झारखंड में बैठक हाेने वाली है। वहां के निर्णय के बाद जल्द ही निर्णय लेंगे। कम से कम 25 प्रतिशत वृद्धि करनी हाेगी। घाेषणा ताे नहीं हुई है, लेकिन कई मालवाहक 20 प्रतिशत तक अधिक किराया लेने लगे हैं। 
-उदयशंकर प्र. सिंह, अध्यक्ष, फेडरेशन।

चैंबर आफ काॅमर्स ने कहा, कपड़ों की कीमत पर इससे 3 फीसदी वृद्धि का अनुमान है

  • ट्रांसपोर्ट का किराया बढ़ा तो हर सामान का मूल्य बढ़ेगा

कपड़े पर 3 प्रतिशत तक वृद्धि का अनुमान है। लंबी दूरी के बस, ट्रक से लेकर पेट्राेल-डीजल से चलने वाले वाहनाें पर असर पड़ने से हर  सामान की कीमताें में वृद्धि हाेगी। मार्केट रफ्तार में आ रहा है। इसलिए व्यवसायी अभी कीमत नहीं बढ़ा रहे। 
-माेतीलाल छापड़िया, अध्यक्ष, चैंबर।

Source link