BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Muzaffarpur News In Hindi : Kareena got 12 people infected in the district, including women policemen, 274 figures reached | महिला पुलिसकर्मी सहित जिले में 12 लाेग मिले काेराेना संक्रमित, 274 पहुंचा आंकड़ा

दैनिक भास्कर

Jun 27, 2020, 05:22 AM IST

मुजफ्फरपुर. जिले में शुक्रवार काे फिर 12 काेराेना पाॅजिटिव मरीज मिले। इसमें एक महिला पुलिसकर्मी भी शामिल हैं। इसके साथ ही जिले में अब तक कोरोना पाॅजिटिव की कुल संख्या 274 हाे गई है। कुछ मरीजाें काे केयर सेंटर में शिफ्ट कर दिया गया। बाकी काे शनिवार काे केयर सेंटर भेजा जाएगा। एसीएमओ डाॅ. विनय कुमार शर्मा ने बताया कि 12 पाॅजिटिव मरीजाें में कांटी व माेतीपुर के 4-4, मुशहरी के 2 और साहेबगंज व मीनापुर के एक-एक मरीज शामिल हैं। एक सप्ताह पूर्व छुट्टी से लौटकर आई जिला पुलिस बल की एक महिला पुलिसकर्मी का कोरोना रिपोर्ट शुक्रवार को पॉजिटीव आया। पुलिस लाइन के मेजर ने बताया कि घर से लौट कर आने के बाद उसे क्वारेंटाइन किया गया था। कोरोना के लक्षण मिलने पर उसका सैंपल लिया गया था। रिपाेर्ट पाॅजिटिव आने के बाद उसे कोविड केयर सेन्टर में भर्ती करा दिया गया है। 

इधर, पूर्व केंद्रीय मंत्री डॉ. रघुवंश के संपर्क में आए एक दर्जन लाेगाें की रिपाेर्ट निगेटिव 

पूर्व केंद्रीय मंत्री डाॅ. रघुवंश प्रसाद सिंह के कोरोना पाॅजिटिव पाए जाने के बाद उनके संपर्क में आने वाले करीब एक दर्जन लाेगाें का सैंपल जांच के लिए लिया गया था, उन सभी की रिपाेर्ट निगेटिव आई है। राजद प्रवक्ता वसीम अहमद मुन्ना ने पुष्टि करते हुए बताया कि जिन लाेगों ने जांच के लिए अपना सैंपल दिया था, सभी की रिपाेर्ट निगेटिव आई है। मोतीपुर में 70 लोगों का लिया गया सैंपल : मोतीपुर में एक साथ 9 कोरोना संक्रमित मिलने के बाद शुक्रवार को स्वास्थ्य विभाग की टीम दिनभर कैंप करती रही।

4 संक्रमिताें काे कोविड केयर सेंटर में आइसोलेट कर दिया, और शेष काे हाेम क्वारेंटाइन में भेज दिया गया। वहीं, पीएचसी को सैनिटाइज किया गया। स्वास्थ्य विभाग की टीम ने संक्रमिताें के सम्पर्क में आने वाले 70 लोगों का सैंपल लिया और जांच के लिए भेज दिया।

एसकेएमसीएच में बैकलॉग बढ़ा, 2700 सैंपल पेंडिंग

एसकेएमसीएच की वायरोलॉजी लैब में 2700 से अधिक सैंपल पेंडिंग हो गया है। सैंपल की जांच जल्द हो, इसके लिए 1250 सैंपल काे पटना आरएमआरआई भेजा गया है। एसकेएमसीएच में अभी मुजफ्फरपुर, सहरसा, पूर्वी चंपारण, पश्चिम चंपारण, शिवहर आदि जिले के 27 सौ सैंपल पेंडिंग हैं। एसकेएमसीएच से दूसरी बार बैकलॉग सैंपलों को जांच के लिए पटना भेजा गया है।

काेराेना का सैंपल देते समय दाे माेबाइल नंबर देना जरूरी

काेराेना का सैंपल देेते समय दाे माेबाइल नंबर देना जरूरी है। सिविल सर्जन डाॅ. एसपी सिंह ने इस संबंध में निर्देश दिया। कहा, सैंपल देते वक्त कई लाेग नाम-पता व माेबाइल नंबर अाधा-अधूरा देते हैं। एेसे में रिपाेर्ट पाॅजिटिव अाने पर उनका ढूंढ़ने में परेशानी हाेती है। वैसे मरीजाें काे काेविड केयर सेंटर नहीं भेजा जा रहा। खुद के पास दाे नंबर नहीं रहने पर परिजनाें का नंबर देना होगा।

शव के संस्कार को लेकर विशेष एहतियात जरूरी

कोरोना संक्रमित की मौत के बाद शव के सुरक्षित प्रबंधन एवं निस्तारण को लेकर स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय ने दिशा-निर्देश जारी किया है। इसको लेकर सभी मेडिकल कॉलेजों के अधीक्षक और सभी सिविल सर्जन को पत्र लिखा गया है।  जिसमें शव प्रबंधन में जुटे स्वास्थ्यकर्मियों को हाथों की सफाई का ध्यान रखने के साथ वाटर रेसिस्टेंट एप्रन, ग्लव्स, मास्क आदि का इस्तेमाल करने,  मरीज के शरीर में लगी ट्यूब व कैथटर को सावधानी पूर्वक हटाया जाना है। शव के किसी हिस्से में हुए जख्म या खून के रिसाव को ढंकना है। कीटाणुरहित व ड्रेसिंग कर शव को प्लास्टिक बैग में रखा जाना है। संक्रमित के इलाज के दौरान इस्तेमाल सभी चीजों को बायोमेडिकल वेस्ट मैनेजमेंट नियमों के अनुसार नष्ट करना है।

Source link