BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Pakistan Imran Khan| Pakistan Prime Minister Imran Khan warns Pakistan International Airlines (PIA) Chief. | इमरान की पीआईए चीफ को वॉर्निंग- एक हफ्ते में रिस्ट्रक्चरिंग प्लान दें, खर्च घटाएं; हर महीने 6 अरब रुपए का घाटा

  • पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस में फर्जी पायलटों का मामला सामने आने के बाद इस पर कई देशों ने बैन लगाया
  • देश के कुल 850 कमर्शियल पायलट्स में से 262 के एयरक्राफ्ट ऑपरेशन पर रोक लगाई जा चुकी है

दैनिक भास्कर

Jul 11, 2020, 08:37 AM IST

इस्लामाबाद. अमेरिका, ईयू के अलावा कई देशों के पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (पीआईए) पर बैन लगाए जाने के बाद प्रधानमंत्री इमरान खान एक्टिव हो गए हैं। इमरान ने शुक्रवार को पीआईए चीफ अरशद मलिक को तलब किया। मलिक से इमरान ने कहा कि वे एक हफ्ते में सरकारी एयरलाइंस का रिस्ट्रक्चरिंग प्लान सरकार को सौंपें और फौरन खर्च कम करें।
एविएशन मिनिस्टर गुलाम सरवर खान ने पिछले महीने संसद में खुलासा किया था कि देश के 850 में से 40% पायलटों के पास फर्जी लाइसेंस और डिग्रियां हैं। इसके बाद अमेरिका और ईयू समेत कई देशों ने पाकिस्तानी पायलटों और वहां की एयरलाइन्स पर बैन लगा दिया था। 

मुल्क की बेइज्जती
जियो न्यूज के मुताबिक, अमेरिका द्वारा पाकिस्तान के पायलटों और एयरलाइन्स पर बैन के बाद सरकार काफी परेशान है। यही वजह है कि इमरान ने शुक्रवार दोपहर पीआईए चीफ अरशद मलिक को सीधे तलब किया। इमरान ने मलिक से दो टूक कहा कि वो एक हफ्ते के भीतर पीआईए का रिस्ट्रक्चरिंग प्लान पेश करें। इमरान ने मलिक से कहा कि पीआईए के खर्च भी कम किए जाएं। इसके लिए अलग से प्लान मांगा गया है। 

पीएम सफाई सुनने तैयार नहीं
रिपोर्ट्स के मुताबिक, मलिक ने इमरान को सफाई देनी चाही लेकिन, पीएम इसे सुनने तैयार नहीं थे। दरअसल, मलिक प्रधानमंत्री को यह बताना चाहते थे कि यूरोपीय यूनियन एविएशन सेफ्टी एजेंसी (ईएएसए) से वह बैन हटाने के लिए बातचीत कर रहे हैं। लेकिन, इमरान ने इस पर ध्यान नहीं दिया। बता दें कि ईएएसए के कहने पर यूरोप के 32 देशों ने पीआईए और उसके पायलटों को बैन कर दिया है।  

हर महीने 6 अरब रुपए का घाटा
रिपोर्ट के मुताबिक, पीआईए की हालत इतनी खराब हो गई है कि इस नेशनल कैरियर को कभी भी बंद किया जा सकता है। इस सरकारी एयरलाइन कंपनी को हर महीने करीब 6 अरब पाकिस्तानी रुपए का नुकसान उठाना पड़ रहा है। पैसेंजर्स बढ़ाने के लिए डोमेस्टिक टिकट के रेट कम किए गए। लेकिन, इसका कोई फायदा नहीं हुआ। हर साल सैलरीज पर ही 24 अरब रुपए खर्च होते हैं। एयरलाइन में 14 हजार 500 कर्मचारी हैं। 

पाकिस्तान के फर्जी पायलटों से जुड़ी ये खबरें भी आप पढ़ सकते हैं…
1. अब मलेशिया ने पाकिस्तान के पायलटों पर बैन लगाया, कहा- पाकिस्तान के एविएशन मिनिस्टर ने खुद माना कि उनके 40% पायलट फर्जी हैं
2. पाकिस्तान की सरकारी एयरलाइंस के 860 में से 150 पायलट नहीं उड़ा सकेंगे प्लेन, 262 पायलट्स का एग्जाम किसी और ने दिया था
3. पाकिस्तान में फर्जी लाइसेंस वाले 262 पायलट्स के एयरकाफ्ट उड़ाने पर रोक, इनके खिलाफ जांच होगी, दोषी पाए गए तो जेल जाएंगे

Source link