BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Patna News In Hindi : Patna: Killing wife for marriage to sister-in-law in search of son, drama of road rage | पटना: बेटे की चाह में साली से शादी के लिए पत्नी की कराई हत्या, रोड रेज का रचा नाटक

  • बदमाशों को ढाई लाख की सुपारी में से 50 हजार लोन लेकर एडवांस दिया

दैनिक भास्कर

Jul 11, 2020, 05:40 AM IST

पटना. गोपालपुर थाने के चैनपुर में गुरुवार काे हुई रूबी देवी की हत्या के मामले का पुलिस ने शुक्रवार को खुलासा कर दिया। पुलिस ने उसके पति शंभू रजक और दो अपराधियाें ऋषि और नवीन कुमार को गिरफ्तार कर लिया। दोनों अपराधी जक्कनपुर थाने के जयप्रकाश नगर के रहने वाले हैं। दोनों के पास से पुलिस ने घटना में प्रयुक्त पिस्टल, एक कारतूस, एक खोखा और बाइक बरामद की। पड़ताल के बाद खुलासा हुआ कि शंभू को दो बेटियां हैं। उसकी पत्नी गर्भवती थी।

उसे शक था कि इसबार भी बेटी ही होगी। शंभू बेटे की चाहत में अपनी साली से शादी करना चाहता था। इसी कारण उसने ढाई लाख की सुपारी देकर पत्नी की हत्या करवा दी और रोड रेज का नाटक रचा। सिटी एसपी पूर्वी जितेंद्र कुमार ने कहा कि मामले का उद्भेदन हो गया। पति और दोनों अपराधी गिरफ्तार हो गए। ऋषि पुराना अपराधी और चार्जशीटेड है।
चार दिन पहले रची रोड रेज की कहानी: 4 या 5 जुलाई को शंभू की दुकान पर ऋषि की मुलाकात हुई। शंभू ने ऋषि से कहा कि वह 6 जुलाई को ससुराल जाएगा। 9 जुलाई को वहां से लौटेगा। इसी दौरान जगनपुरा और उसके आसपास हत्या कर देना। रोड रेज की पूरी कहानी शंभू ने अपनी दुकान पर ही रची थी।

दुकान पर रुक किया शूटर का इंतजार
पुलिस के अनुसार पति शंभू रजक ने अपराधियों से मिलकर सबकुछ पहले से तय कर लिया था। तय प्लानिंग के अनुसार अपराधियों का उसने जगनपुरा मोड़ पर इंतजार किया। उसने पुलिस को बताया कि जब जगनपुरा मोड़ पर उसे अपराधी नहीं दिखे तो वह बहाने से एक दुकान में रुक गया और वहां उनका इंतजार किया। जैसे ही पल्सर बाइक पर सवार दोनों अपराधी वहां पहुंचे ताे शंभू पत्नी को लेकर वहां से आगे निकल गया। पीछे से अपराधी पहुंचे और चैनपुर के पास सुनसान देखकर गोली चला दी। 
हत्या के बाद देने थे डेढ़ लाख रुपए
शंभू की सिपारा में लाॅन्ड्री की दुकान है। उसने पूछताछ में खुलासा किया कि ऋषि से उसकी मुलाकात 2019 के अक्टूबर में अपनी दुकान में हुई। जब पता चला कि वह अपराधी है, तब उसके साथ मिलकर पत्नी की हत्या की साजिश रची। शंभू ने उसे ढाई लाख की सुपारी दी। उसने एलआईसी से 30 हजार लोन लेकर जनवरी में ऋषि को 50 हजार रुपए एडवांस भी दे दिया था। शेष राशि बाद में देने की बात हुई थी।

कॉन्ट्रैक्ट किलरों से फोन पर नहीं करता था बात

गुरुवार को घटना होते ही मामला गंभीर हो गया। शुरुआती जांच में रोड रेज की ही बात आ रही थी। शंभू ने पुलिस से कहा कि दो अपराधी अपाची बाइक से आ रहे थे। टक्कर होने के बाद दोनों बाइक से गिर गए। इसपर बकझक हुआ। इसके बाद एक ने धमकाया कि गोली मार देंगे। इस बात पर पुलिस अपराधियों की पहचान के लिए सीसीटीवी फुटेज खंगालने लगी। फुटेज में कहीं अपाची सवार नहीं दिखा। जांच में यह भी आया कि शंभू का मोबाइल दो दिनों से बंद है। मोबाइल के सीडीआर से पता चला कि वह अपनी साली से लगातार काफी देर तक बात करता है। इसके बाद पुलिस का शक गहराया और शंभू से सख्ती से पूछताछ की जाने लगी। शंभू बार-बार बयान बदलने लगा और अंत में उसने सच्चाई स्वीकार कर ली।

शंभू ने कहा- मेरी पत्नी मंदबुद्धि, थी, साली से करता हूं प्यार

पूछताछ में शंभू ने पुलिस से कहा कि उसको दो बेटी ही है। उसे बेटा चाहिए था। परिवार वाले भी दबाव दे रहे थे। उसने यह भी कहा कि उसकी पत्नी मंदबुद्धि थी। दोनों के बीच खटपट चलती थी। इसी बीच साली से प्यार हो गया। 
पुरस्कार: जांच टीम के सदस्यों को 5-5 हजार रुपए मिलेंगे 

घटना के बाद सिटी एसपी पूर्वी के नेतृत्व में विशेष टीम गठित की गई। टीम में एएसपी सदर किरण जाधव, गोपालपुर थानेदार, जक्कनपुर थानेदार और परसा बाजार थानेदार को रखा गया। एसएसपी ने कहा कि टीम ने 12 घंटे के अंदर पूरे मामले का उद्भेदन कर दिया। टीम के सदस्यों का 5-5 हजार रुपए का पुरस्कार दिया जाएगा।

Source link