BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Ujjain News In Hindi : Sadly, I have cried a lot in my temple; Fearing encounter, police was fired | विकास दुबे ने बताया था- एनकाउंटर के डर से ही मैंने पुलिस पर गोलियां चलाई थीं, इसका अफसोस है; मंदिर में बैठकर बहुत रोया

  • विकास से पूछताछ की जानकारी पुलिस ने नहीं दी, पर सूत्रों ने इस बारे में कई जानकारियां दीं
  • विकास ने पूछताछ में बताया कि उसने शूटआउट से पहले घर पर साथियों को असलहों के साथ बुलाया था

दैनिक भास्कर

Jul 10, 2020, 08:40 AM IST

उज्जैन. कानपुर शूटआउट के आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे को उज्जैन पुलिस ने यूपी एसटीएफ के हवाले कर दिया था। शुक्रवार सुबह उसका एनकाउंटर कर दिया गया। विकास पर उज्जैन में कोई केस दर्ज नहीं किया गया। एसपी उज्जैन मनोज कुमार ने बताया कि चार्जशीट बनाकर यूपी पुलिस को सौंप दी गई। हालांकि, मीडिया के इन सवालों का जवाब मनोज कुमार नहीं दे पाए कि विकास पर केस क्यों नहीं दर्ज किया गया। सवालों के बीच में ही वे उठकर चले गए।

हालांकि, उन्होंने ये जरूर बताया कि विकास से 8 घंटे तक पूछताछ की गई। इस पूछताछ की जानकारी अभी पुलिस ने आधिकारिक तौर पर नहीं दी। लेकिन, सूत्रों और रिपोर्ट्स के हवाले से सामने आया है कि विकास ने शूटआउट से पहले अपने सभी साथियों को असलहों के साथ घर बुलाया था। उसने घर पर 30 लोगों का खाना बनवाया था।

शवों के जलाने की तैयारी कर रहा था विकास- सूत्र

सूत्रों के मुताबिक, विकास ने पुलिस को बताया कि एनकाउंटर के डर से उनसे बिकरू गांव में दबिश डालने गई पुलिस टीम पर फायरिंग की थी। उसने यह भी बताया कि और फोर्स नहीं आती तो वह सबूत मिटाने के लिए पुलिस वालों के शव जला देता, इसके लिए तेल भी मंगवाया था।

गैंगस्टर ने बताया- पुलिस के लोग मेरे संपर्क में थे। उन्होंने दबिश की जानकारी दी थी। मैंने अपने साथियों को हथियार के साथ बुलाया था। घर पर 30 लोगों के लिए खाना बनवाया था। घटना के बाद मैंने सभी साथियों को अलग-अलग भागने को कहा था।

उसने कहा- मुझे किए पर अफसोस है, पर मुझे गोली चलाने के लिए मजबूर किया गया था। मैं मंदिर के परिसर में बैठकर बहुत रोया हूं।

पुलिसवाले ने बोला- धक्का-मुक्की की तो चांटा जड़ दिया
विकास को पकड़ने वाले महाकाल चौकी में पदस्थ विजय सिंह राठौर ने बताया कि विकास ने भागने की कोशिश की थी। उसने सुरक्षाकर्मी से धक्का-मुक्की की थी, तो उसकी घड़ी टूट गई थी। उसने मेरे भी धक्का-मुक्की की तो मैंने उसे दो चांटे जड़ दिए थे।

कानपुर शूटआउट से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

1. गैंगस्टर की गिरफ्तारी, चश्मदीद की जुबानी / सुरक्षाकर्मी 2 घंटे तक विकास के आगे-पीछे घूमे, पूछा- जूता स्टैंड मैं बैग रख दूं; पकड़ाया तो हाथापाई करने लगा

2. उज्जैन में ऐसे हुई विकास दुबे की गिरफ्तारी : वीआईपी दर्शन के लिए 250 रु की रसीद कटवाई, दर्शन के बाद लौटा और पुलिस से कहा- मैं विकास दुबे, मुझे पकड़ लो

3कानपुर शूटआउट की इनसाइड स्टोरी / सीओ-एसओ की आपसी खींचतान में 8 पुलिसवालों की जान गई, नेताओं से लेकर सीनियर पुलिस अफसर तक सवालों के घेरे में

4. कानपुर शूटआउट: 24 घंटे में 3 एनकाउंटर / विकास दुबे का करीबी प्रभात मिश्रा कानपुर में मारा गया, दूसरा साथी बऊआ दुबे इटावा में ढेर

Source link