BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

vikas dubey kanpur encounter story bhauti | कानपुर से 17 किमी दूर भौती में हुआ एनकाउंटर, विकास को दो गोलियां लगीं, एसटीएफ जवान भी घायल

  • विकास के आसपास दो एसटीएफ के जवान बैठे थे, गाड़ी जैसे ही पलटी उसने जवान की पिस्टल लेकर भागने की कोशिश की
  • रिपोर्ट्स के मुताबिक, विकास को दो गोलियां लगीं, पहली कमर में और दूसरी सीने में

दैनिक भास्कर

Jul 10, 2020, 08:47 AM IST

कानपुर. बिकरू हत्याकांड के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे की शुक्रवार सुबह कानपुर एसटीएफ के साथ एनकाउंटर में मौत हो गई। एनकाउंटर कानपुर से महज 17 किलोमीटर दूर भौती नाम की जगह पर हुआ। कानपुर में यह एनकाउंटर सुबह 6.15 और 6.30 के बीच हुआ। 2 और 3 जुलाई की रात बिकरू गांव में विकास और उसके गैंग ने पुलिस पर हमला किया था। इसमें 8 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई। 

बारिश की वजह से पलटी गाड़ी
रिपोर्ट्स के मुताबिक, गाड़ी में ड्राइवर के अलावा तीन एसटीएफ के जवान थे। घटना के वक्त कानपुर में भौती इलाके में बारिश हो रही थी। बारिश हल्की थी। लिहाजा, संकरी सड़क पर कीचड़ की वजह से तेज रफ्तार गाड़ी पलटी। विकास पिछली सीट पर बीच में बैठा था। उसके दोनों तरफ एसटीएफ के जवान थे। गाड़ी पलटी तो विकास ने भागने की कोशिश की। एक पुलिसकर्मी की 9 एमएम की पिस्टल लेकर भागा। पलटकर गोली चलाई। एसटीएफ की जवाबी फायरिंग में एक गोली उसकी कमर और दूसरी सीने में लगी। 

दो पुलिसकर्मी भी घायल 
रिपोर्ट्स के मुताबिक, एसटीएफ के दो जवान भी इस घटना में घायल हुए हैं। बताया जाता है कि विकास दुबे हैलट हॉस्पिटल पहुंचने के पहले जिंदा था। हालांकि, उसकी हालत बेहद गंभीर थी। कुछ ही देर में उसने दम तोड़ दिया। घटना के वक्त विकास वही नीली धारी वाली फुल टी-शर्ट और लोअर पहने था, जो उसने गुरुवार को उज्जैन में गिरफ्तारी के वक्त पहने नजर आया था। 

22 मिनट बाद मौत

रिपोर्ट्स के मुताबिक, विकास को एनकाउंटर के बाद सीधे एक गाड़ी से अस्पताल ले जाया गया। यह गाड़ी एसटीएफ के काफिले में शामिल थी। इसी गाड़ी में एसटीएफ के दो घायल जवान भी थे।हॉस्पिटल पहुंचने के 20 से 22 मिनट बाद ही विकास की मौत हो गई। हालांकि, इसकी पुष्टि काफी देर बाद की गई। जानकारी के मुताबिक, दोनों एसटीएफ जवानों को फौरन आईसीयू में एडमिट कराया गया। एक जवान की हालत गंभीर बताई गई है। 

कानपुर शूटआउट से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

1.हिस्ट्रीशीटर बोला- एनकाउंटर के डर से पुलिस टीम पर गोलियां चलाई थीं, इसका अफसोस है; मंदिर में बैठकर बहुत रोया

2. गैंगस्टर की गिरफ्तारी, चश्मदीद की जुबानी / सुरक्षाकर्मी 2 घंटे तक विकास के आगे-पीछे घूमे, पूछा- जूता स्टैंड मैं बैग रख दूं; पकड़ाया तो हाथापाई करने लगा

3. उज्जैन में ऐसे हुई विकास दुबे की गिरफ्तारी : वीआईपी दर्शन के लिए 250 रु की रसीद कटवाई, दर्शन के बाद लौटा और पुलिस से कहा- मैं विकास दुबे, मुझे पकड़ लो

4कानपुर शूटआउट की इनसाइड स्टोरी / सीओ-एसओ की आपसी खींचतान में 8 पुलिसवालों की जान गई, नेताओं से लेकर सीनियर पुलिस अफसर तक सवालों के घेरे में

5. कानपुर शूटआउट: 24 घंटे में 3 एनकाउंटर / विकास दुबे का करीबी प्रभात मिश्रा कानपुर में मारा गया, दूसरा साथी बऊआ दुबे इटावा में ढेर

Source link