BIHARMIRROR

Welcome to Biharmirror

Water resources department ready for flood, all sensing sites will be fixed by June 10 | बाढ़ को लेकर जल संसाधन विभाग तैयार, 10 जून तक दुरुस्त हो जाएंगे सारे संवेदनशीन स्थल

  • पहले 31 मई तक काम पूरा होना था, लेकिन लॉकडाउन के चलते मरम्मत में देरी हुई
  • जल संसाधन विभाग ने बाढ़ को लेकर राज्य में 120 स्थलों को संवेदनशील घोषित किया है

दैनिक भास्कर

Jun 03, 2020, 07:51 PM IST

पटना. जल संसाधन विभाग ने बाढ़ को लेकर चिह्नित संवेदनशील स्थलों को 10 जून तक हर हाल में दुरुस्त कर लेने को कहा है। विभाग ने सभी क्षेत्रीय इंजीनियरों को इस संबंध में निर्देश दिया है और कहा है कि इस मामले में किसी स्तर पर कोताही स्वीकार्य नहीं होगी। विभाग ने बाढ़ को लेकर 120 स्थलों को संवेदनशील घोषित किया है और इनके ऊपर काम चल रहा है। पहले इन स्थलों को 31 मई तक ही दुरुस्त कर लेना था, लेकिन लॉकडाउन के कारण काम प्रारंभ होने में विलंब हुआ। उधर, विभाग ने फील्ड में तैनात सभी इंजीनियरों से तटबंधों की अद्यतन स्थिति की रिपोर्ट भी 10 जून तक मुख्यालय भेजने को कहा है।

जल संसाधन विभाग ने मंत्री संजय कुमार झा की अध्यक्षता में बिहार स्टेट फ्लड कंट्रोल बोर्ड की 57 वीं बैठक में 704 करोड़ की 122 परियोजनाओं को हरी झंडी दी थी। इन्हें 15 मई तक ही पूरी कर लेना था। काम तेजी से शुरु हुआ भी लेकिन कोरोना संकट के कारण लगे लॉकडाउन में सारा कार्य ठप हो गया। संवेदनशील स्थलों की मरम्मत में उपयोग की जाने वाली सामग्री राज्य के बाहर से आते हैं। लॉकडाउन के कारण वाहनों का आना बंद था, लिहाजा आवश्यक सामग्री समय पर नहीं आ सकी। ऐसे में लगभग एक माह तक कार्य पूरी तरह बाधित रहा।

बाढ़ पूर्व सारी योजनाएं 10 जून तक हर हाल में पूरी हो जाएंगी। विभाग हर स्तर पर सारे कार्यों की समीक्षा कर रहा है। विभाग के सचिव संजीव हंस खुद मानिटरिंग कर रहे हैं। इंजीनियरों को पूर्ण गुणवत्ता के साथ सारे कार्य करने की ताकीद की गयी है। हम बाढ़ की हर चुनौती से निपटने को तैयार हैं।

-संजय कुमार झा, जल संसाधन मंत्री

Source link